Menu
Menu
Menu
होम » पड़ताल

पड़ताल

धानेपुर को नगर पंचायत का दर्जा मिलना लगभग तय, विधायक का प्रयास लगातार जारी

  मुजेहना, गोण्डा – मैहनौन विधानसभा से विधायक विनय कुमार द्रिवेदी “मुन्ना भैया” ने धानेपुर कस्बे को नगर पंचायत बनाने के लिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से 20 अक्टूबर को मिलकर पत्र दिया था।  पत्र के आधार पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने गोण्डाजिलाधिकारी से प्रस्ताव मांगा है। जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी सदर व पंचायती राज अधिकारी से प्रस्ताव मांगा है। इसके बाद उपजिलाधिकारी ने कानूनगो व लेखपाल से आख्या मांगा। जिलापंचायत राज अधिकारी ने एडीओ पंचायत से आख्या मांगी थी। विधायक विनय कुमार द्विवेदी ने बताया कि जिलाधिकारी गोन्डा ने विशेष सचिव उत्तर प्रदेश शासन नगर विकास विभाग को अपनी आख्या भेज दी

गोण्डा में करोड़ों का गबन, आखिर क्यों नही रुक रहा इस जिले में अपराध व भ्रष्टाचार?

गोण्डा- शासन द्वारा रोक के बाद भी तत्कालीन अध्यक्ष द्वारा नगर पालिका परिषद में अनियमित तरीके से अपने रिश्तेदारों के साथ ही अन्य 59 लोगों की अनियमित तरीके से नियुक्तियां कर दी गयीं। मामला अदालत में पहुंचा जिस पर उच्च न्यायालय द्वारा नियुक्तियों को निरस्त करते हुए वेतन भुगतान की रिकवरी का आदे जारी किया गया, लेकिन इसके बावजूद नगर पालिका द्वारा भुगतान का खेल खेला जाता रहा। अदालत व शासन के आदेश को ठेंगा दिखाते हुए नियुक्त किए गए सभी 59 कर्मचारियों को वेतन का भुगतान किया जाता रहा है। अब इस मामले में 30 करोड़ से अधिक की

हाथरस मामले में नया मोड़, भाजपा के पूर्व विधायक का दावा- मां और भाई ने की थी बेटी की हत्या

अलीगढ-  हाथरस सामूहिक दुष्कर्म कांड पेचीदा होता जा रहा है। परिवार और पुलिस के अलग-अलग बयानों की गुत्थी अभी सुलझी भी नहीं है कि मामले में एक नया मोड़ सामने आया है। शुक्रवार को भाजपा के पूर्व विधायक राजवीर सिंह पहलवान ने युवती की हत्या के लिए परिजनों को ही जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि लड़की को उसके भाई और मां ने ही मारा है। उनका कहना है कि चारों युवक निर्दोष हैं और उन्हें फंसाया गया है। वहीं सांसद राजवीर सिंह दिलेर को लेकर उन्होंने कहा है कि उन्हें तो जनता सबक सिखाएगी। बता दें कि

पीएम किसान सम्मान योजना में 110 करोड़ का घोटाला, अफसरों-दलालों की मिलीभगत से हुआ खेल, कई अधिकारी नपे

नई दिल्ली- इस मामले में 18 एजेंटों को गिरफ्तार कर किसानों से जुड़ी योजनाओं के क्रियान्वयन में शामिल 80 अधिकारियों को हटा दिया गया है। इसके अलावा करीब 34 अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। इन अधिकारियों में कृषि विभाग के तीन असिस्टेंट डायरेक्टर भी शामिल हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में 110 करोड़ रुपये का घोटाला उजागर हुआ है। तमिलनाडु में अधिकारियों, स्थानीय नेताओं और दलालों की मिलीभगत से इस पूरे खेल को अंजाम देने का खुलासा हुआ है। आंकलन के मुताबिक देश में कोरोना संकट आने के बाद तमिलनाडु में लगभग साढे पांच लाख लोगों को

यूपी के प्रत्येक गांव का ड्रोन कैमरे से क्यों बन रहा फोटो नक्शा? सिद्धार्थनगर में भी काम शुरू

–परीक्षण के तौर पर सिद्धार्थनगर की नौगढ़ व बांसी तहसीलों के चार चार गांव चिन्हित किये गये, नौगढ़ (सदर) तहसील से शुरुआत -गोरखपुर, बस्ती, देवीपाटन आदि मंडलों के सभी जिलों में भी योजना पर काम जल्द होगा प्रररम्भ नजीर मलिक सिद्धार्थनगर- उत्तर प्रदेश के प्रत्येक गांव का अलग-अलग फोटो नक्शा बनाने का काम शुरू हो गया है। इस नक्शे के लिए अभिलेख के बजाये ड्रोन कैमरे का सहारा लिया जा रहा है। इसमें सिद्धार्थनगर जिले के भी सभी गांव शामिल हैं। पायलट योजना के तहत इसमें जिले की बांसी व नौगढ़ तहसीलों के चार चार गांव चयनित किये गये हैं।