Menu
Menu
Menu
होम » अजब गजब » खबरों का पोस्टमार्टम

खबरों का पोस्टमार्टम

सुशील मोदी नहीं बनेंगे बिहार के उप-मुख्यमंत्री, नीतीश कुमार होंगे मुख्यमंत्री, भाजपा की क्या है मजबूरी?

एनडीए में BJP के पास सबसे ज्यादा 74 विधायक हैं। जबकि जदयू के 43 विधायक हैं। वहीं सहयोगी दल हम और वीआईपी के पास 4-4 विधायक हैं। पटना- बिहार में सत्तारूढ़ गठबंधन एनडीए-NDA की रविवार को बैठक हुई। इसमें नीतीश कुमार को सर्वसम्मति से बिहार एनडीए विधायक दल का नेता चुन लिया गया है। लेकिन इस बार सुशील कुमार मोदी बिहार के उप-मुख्यमंत्री नहीं होंगे। उनकी जगह डिप्टी सीएम किसे बनाया जाएगा, इसका अभी पता नहीं चला है लेकिन तारकिशोर प्रसाद को उपमुख्यमंत्री पद दिए जाने की खबर है। एनडीए विधायक दल का नेता चुने के बाद नीतीश कुमार नई

रिज़र्व बैंक के इक़रार में चिंता या निर्मला सीतारमण के दीवाली गिफ़्ट में राहत?

आलोक जोशी पूर्व संपादक, सीएनबीसी-आवाज़ करना था इनक़ार मगर इक़रार… के अंदाज़ में आख़िरकार रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया को ये बात कहनी पड़ गई कि भारत में मंदी आ गई है। रिज़र्व बैंक के मासिक बुलेटिन में कहा गया है कि इतिहास में पहली बार भारत में टेक्निकल रिसेशन आ गया है। बात बहुत मुश्किल नहीं है, लेकिन समझनी ज़रा मुश्किल हो रही है। समझने में मुश्किल की एक वजह तो रिसेशन या मंदी के साथ टेक्निकल शब्द का जुड़ जाना है और दूसरी वजह है रिज़र्व बैंक की शब्दावली में आया एक नया शब्द – नाउकास्ट। जैसे फ़ोरकास्ट का

जेल से रिहा हुए अर्नब गोस्वामी की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, पुलिसकर्मियों की पिटाई के मामले में फिर से हो सकते हैं गिरफ्तार

जेल से रिहा होने बाद भी अर्नब की मुश्किलें पूरी तरह कम नहीं हुईं हैं क्योंकि कथित रूप से पुलिसकर्मीयों को पिटने के मामले में उन पर पहले ही केस दर्ज है जिसमें उनकी गिरफ्तारी हो सकती है, जिससे बचने के लिए उनकी पत्नी ने अग्रिम जमानत की अर्जी दी है। नई दिल्ली – सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी को बुधवार शाम को तलोजा जेल से रिहा किया गया। जेल से रिहा होने बाद भी अर्नब की मुश्किलें पूरी तरह कम नहीं हुईं हैं क्योंकि कथित रूप से पुलिसकर्मीयों को पीटने के मामले

अर्नब गोस्वामी हुए रिहा, जानें उच्चतम न्यायालय में हुई बहस व जज ने क्या कहा?

नई दिल्ली– उच्चतम न्यायालय कोर्ट ने बुधवार को रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन चीफ अर्नब गोस्वामी की अंतरिम जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि एक मजबूत संदेश देने की आवश्यकता है। रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन चीफ अर्नब गोस्वामी की अंतरिम जमानत याचिका पर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की। इस दौरान कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार पर सख्त टिप्पणी करते हुए कहा कि अगर राज्य सरकारें किसी को टारगेट करती हैं, तो यह न्याय का उल्लंघन होगा। स्वतंत्रता की रक्षा के लिए शीर्ष अदालत सुनवाई के दौरान जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा, ‘यदि हम एक संवैधानिक न्यायालय के रूप में

रॉ ने जब भिंडरावाले का हेलीकॉप्टर से अपहरण करने की योजना बनाई: विवेचना

हरचरण सिंह लौंगोवाल और जरनैल सिंह भिंडरावाले स्वर्ण मंदिर से निकलते हुए इमेज स्रोत, SATPAL DANIS जब 1982 ख़त्म होते-होते पंजाब के हालात बेक़ाबू होने लगे तो रॉ के पूर्व प्रमुख रामनाथ काव ने भिंडरावाले को हेलीकॉप्टर ऑपरेशन के ज़रिए पहले चौक मेहता गुरुद्वारे और फिर बाद में स्वर्ण मंदिर से उठवा लेने के बारे में सोचना शुरू कर दिया था। इस बीच काव ने ब्रिटिश उच्चायोग में काम कर रहे ब्रिटिश ख़ुफ़िया एजेंसी एमआई-6 के दो जासूसों से अकेले में मुलाक़ात की थी. रॉ के पूर्व अतिरिक्त सचिव बी रमण ‘काव ब्वाएज़ ऑफ़ रॉ’ में लिखते हैं, “दिसंबर, 1983