बाराबंकी- खेत में पराली जलाने पर लेखपाल ने किसान को कार्रवाई की धमकी दी। धमकी से सदमे में किसान की मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
इस घटना पर किसान मजदूर सेना के संस्थापक जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपीभैया ने बाराबंकी के जिला अधिकारी से लेखपाल पर को तुरंत बर्खास्त करते हुए मुकदमा पंजीकृत करने की मांग की है।

पुलिस सूत्रों ने आज यहां कहा कि सुबेहा थाना क्षेत्र के गांव बली गेरावा निवासी किसान प्रदीप सिंह ने गुरुवार को अपने खेत की पराली जला दी थी। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत हलका लेखपाल से कर दी। लेखपाल राजेंद्र प्रसाद ने खेत में जल रही पराली की फोटो खींची और वीडियो बना लिया। इसकी जानकारी किसान प्रदीप सिंह को देते हुए कार्रवाई की बात कही। प्रदीप सिंह प्रधान सरजू के साथ शुक्रवार को लेखपाल से मिलने तहसील गया था। परिजनों के अनुसार लेखपाल ने प्रदीप सिंह को बताया कि वह कार्रवाई से बचने के लिए खेत की जुताई करा दे। पराली जलाए जाने की जानकारी उप जिलाधिकारी को है । इससे प्रदीप सिंह सहम गया।
कार्रवाई के नाम से सहमा प्रदीप घर लौट आया। परिजनों के मुताबिक घर आते ही कुछ समय बाद उसके सीने में दर्द होने लगा । परिजन आनन-फानन प्रदीप को स्थानीय चिकित्सालय ले जाने लगे लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

किसान मजदूर सेना के संस्थापक जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपीभैया ने बाराबंकी के जिला अधिकारी व बाराबंकी पुलिस को लिखा है:

महोदय,
पराली जलाने की घटना मे किसान प्रदीप सिंह को लेखपाल ने डराया धमकाया व घूस की मांग की जिसकी वहज से किसान की मौत हुई है। इस घटना की उच्चस्तरीय जांच करवाकर दोषी लेखपाल को बर्खास्त किया जाए व मुकदमा दर्ज हो।
-संस्थापक, किसान मजदूर सेना
@[email protected]

Author:

Mukesh Kumar

88% LikesVS
12% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *