तीन वर्ष 13 माह 13 दिन में करेंगे 3300 किमी की यात्रा
कार्तिक में ओंकारेश्वर से मां नर्मदा की तीन साल 13 महीने 13 दिन की नर्मदा परिक्रमा यात्रा की शुरुआत कर दी है। रविवार को गोमुख घाट से महाराष्ट्र के नासिक से आए श्रद्धालुओं ने नर्मदा परिक्रमा यात्रा शुरू की है।

कार्तिक में ओंकारेश्वर से मां नर्मदा की तीन साल 13 महीने 13 दिन की नर्मदा परिक्रमा यात्रा की शुरुआत कर दी है। रविवार को गोमुख घाट से महाराष्ट्र के नासिक से आए श्रद्धालुओं ने नर्मदा परिक्रमा यात्रा शुरू की है। नासिक के रमाकांत अठावले ने बताया कि पूरे भारतवर्ष में सिर्फ नर्मदा नदी की ही परिक्रमा होती है। इसलिए पारिवारिक व सांसारिक सुख को त्याग कर यह परिक्रमा यात्रा शुरू की है।

इस यात्रा में 58 से लेकर 62 वर्ष की उम्र के 11 सेवानिवृत्त शासकीय कर्मचारी शामिल हैं। ओंकारेश्वर से रवाना होने के पहले गोमुखघाट पर पंडित जगदीश शर्मा द्वारा पूजन करवाया गया।श्वेत कपड़े पहनकर, हाथ में एक लाठी और रात्रि में ठंड से बचने के लिए कंबल नर्मदा तट पर पानी-पीने के लिए एक स्टील का डब्बा और पीठ पर पिट्ठू बैग लेकर नर्मदा परिक्रमा पर निकले लोगों का करवां तीर्थनगरी से रवाना होने का सिलसिला शुरू हो गया है। परिक्रमावासियों ने चर्चा में कहा कि मां नर्मदा की परिक्रमा करने का मूल उद्देश्य अध्यात्म से मन की शांति है। साथ में गीता है। रामायण है एवं कुछ पुराण हैं विशेषकर के नर्मदा पुराण एवं मां नर्मदा की आरती की किताब है। 62 वर्षीय सुरेश राव पाटिल ने बताया कि प्रतिदिन करीबन 20 से 25 किलोमीटर पदयात्रा का लक्ष्य है। सुबह उठकर सबसे पहले नर्मदा स्नान। नर्मदा नहीं मिली तो कहीं भी कुएं-बावड़ी में स्नान करेंगे। उसके बाद मां नर्मदा की पूजा साथ सत्तू का सेवन करके सुबह 8 बजे यात्रा शुरू कर दी जाएगी। दोपहर में अगर कहीं भोजन मिला तो कर लेंगे, नहीं तो पांच घर भिक्षा मांग कर जो भी मिलेगा, उससे सब लोग पेट भरेंगे। सूर्यास्त से पहले एक टाइम भोजन करके मां नर्मदा की आरती कर रात्रि विश्राम करेंगे। घर से निकलने से पहले इन्होंने सभी सुविधाओं को त्याग दिया है। मोबाइल अपने घर छोड़ दिए हैं। नर्मदा परिक्रमा पथ पर आगे बढ़ते हुए 3300 किलोमीटर की परिक्रमा ही जीवन का लक्ष्य रखा है।

News Source: https://www.naidunia.com/madhya-pradesh/khandwa-will-travel-3300-km-in-three-years-13-months-13-days-6580392

Photo Source: wikipedia

thekhabarilal
Author: thekhabarilal

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *